Makar Sankranti Ke Bare Mein | मकर संक्रांति के बारे में

Makar Sankranti Ke Bare Mein – मकर संक्रांति, जिसे उत्तरायण या मकर महोत्सव के रूप में भी जाना जाता है, भारतीय उपमहाद्वीप में मनाया जाने वाला एक जीवंत और विविध त्योहार है। प्रतिवर्ष 14 जनवरी (या लीप वर्ष में 15 जनवरी) को पड़ने वाला यह त्योहार सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में संक्रमण का प्रतीक है। यह उत्सव हिंदू सौर देवता, सूर्य को समर्पित है, जो शुभ उत्तरायण काल ​​की शुरुआत का प्रतीक है।

मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है

Makar Sankranti kyon manae jaati hai; मकर संक्रांति भारतीय हिन्दू पंचांग में एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो हर साल 14 या 15 जनवरी को मनाया जाता है। यह त्योहार सूर्य के मकर राशि में प्रवेश को संक्रांति कहा जाता है और इस दिन सूर्य का उत्तरायण होता है, जिससे दिन का समय बढ़ने लगता है।

मकर संक्रांति को विभिन्न नामों से जाना जाता है – मकर संक्रांति, उत्तरायण, माघी, खिचड़ी, पोंगल, लोहड़ी, मघ बिहु, सुगाड़, तिल संक्रांति आदि। यह त्योहार भारत के विभिन्न हिस्सों में विभिन्न रूपों में मनाया जाता है और अलग-अलग परंपराओं और सांस्कृतिक अभिव्यक्तियों के साथ मनाया जाता है।

इस दिन लोग सूर्य की पूजा करते हैं, गंगा स्नान करते हैं और दान-पुण्य करते हैं। मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी भी बनाई जाती है, जिसमें तिल, गुड़, मूंगफली, चावल और मसूर की दाल होती है। यह एक प्रकार का भोजन सामाजिक मिलन-संबंध को बढ़ावा देता है और एक सजीव समृद्धि की प्रतीक है।

लोग मकर संक्रांति को धार्मिक, सांस्कृतिक और बौद्धिक महत्व के साथ मनाते हैं और इस दिन को खुशी, उत्साह और समृद्धि का पर्व मानते हैं।

2024 में मकर संक्रांति कब है: Makar Sankranti Kab Hai

2024 में, मकर संक्रांति 15 जनवरी को सोमवार को मनाई जाएगी, जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेगा। इस उत्सव को देश के विभिन्न हिस्सों में विभिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे कि उत्तरायण, पोंगल, मकरविलक्कु, माघ, और बिहु। शास्त्रों के अनुसार, इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने और दान-पुण्य करने से व्यक्ति को सदैव के लिए पुण्य प्राप्त होता है।

मकर संक्रांति
मकर संक्रांति 2024Makar Sankranti Ke Bare Mein
साल तारीकसमय
201914 January 19:50
202015 January 02:06
202114 January 08:14
202214 January 14:28
202314 January 20:43
202415 January 02:42
202514 January 08:54
202614 January 15:05
202714 January 21:09
202815 January 03:22
202914 January 09:25

मकर संक्रांति कैसे मनाया जाती है

मकर संक्रांति को विभिन्न रूपों में भारत के विभिन्न हिस्सों में मनाया जाता है, और इसे विभिन्न परंपराओं और स्थानीय सांस्कृतिक अभिव्यक्तियों के साथ मनाया जाता है। यहां कुछ सामान्य रूप हैं जिनमें मकर संक्रांति का आचरण किया जाता है:

  1. धार्मिक पूजा: लोग सूर्य की पूजा करते हैं और घर को सजाकर उसे स्वागत करते हैं। सूर्य देवता की मूर्ति या चित्र की पूजा की जाती है, और धूप, दीप, फल, फूल और नैवेद्य उपहार चढ़ाए जाते हैं।
  2. दान-पुण्य: इस दिन लोग दान और पुण्य करने का प्रयास करते हैं। विशेषकर तिल, गुड़, ऊरद दान किया जाता है।
  3. स्नान और तीर्थयात्रा: मकर संक्रांति के दिन लोग गंगा, यमुना, सरस्वती और अन्य तीर्थ स्थलों में स्नान करने के लिए जाते हैं।
  4. खिचड़ी बनाई जाती है: खिचड़ी, जिसमें तिल, गुड़, मूंगफली, चावल और मसूर की दाल होती है, इस दिन बनाई जाती है और समृद्धि की प्रतीक मानी जाती है।
  5. मकर संक्रांति की खेतों में परंपरागत खेती: कुछ क्षेत्रों में, इस दिन खेतों में परंपरागत खेती का आयोजन किया जाता है। लोग गानों, नृत्यों, और खेती से जुड़ी खुशियों का आनंद लेते हैं।
  6. लोहड़ी: पंजाब और हरियाणा में, मकर संक्रांति के एक दिन पहले, लोग लोहड़ी मनाते हैं जिसमें आग के चारों ओर बैठकर गाने गाते हैं और बोनफायर जलाते हैं।
  7. माघ मेला: उत्तर भारत में, कुछ स्थानों पर माघ मेला का आयोजन किया जाता है जिसमें लोग तीर्थयात्रा के लिए संग्रहण करते हैं और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेते हैं।
  8. पतंग उड़ाते है: पतंग उड़ाने का रंग-बिरंगा दृश्य विशेषत: पंजाब, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना और केरल जैसे राज्यों में देखा जा सकता है।

मकर संक्रांति पर अक्सर पूछे जाने वाले: (FAQ)

  • मकर संक्रांति क्या है?

    मकर संक्रांति एक हिंदू त्योहार है जो हर साल 14 जनवरी (या लीप वर्ष में 15 जनवरी) को मनाया जाता है।
    यह सूर्य के मकर राशि में संक्रमण का प्रतीक है और इसे शुभ उत्तरायण काल ​​की शुरुआत के रूप में मनाया जाता है।

  • मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

    मकर संक्रांति सूर्य देव को सम्मान देने के लिए मनाई जाती है और यह सूर्य के उत्तर की ओर बढ़ने का प्रतीक है।
    इसे कृषि गतिविधियों के लिए भी शुभ समय माना जाता है, जो फसल के मौसम और लंबे दिनों की शुरुआत का प्रतीक है।

  • मकर संक्रांति पूरे भारत में कैसे मनाई जाती है?

    यह त्यौहार विविध क्षेत्रीय परंपराओं के साथ मनाया जाता है।
    लोग नदियों में पवित्र स्नान करते हैं, अपने घरों को सजाते हैं, पतंग उड़ाते हैं और तिल और गुड़ से बनी पारंपरिक मिठाइयाँ बाँटते हैं। मेलों का आयोजन किया जाता है, और विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियाँ और अनुष्ठान होते हैं।

  • मकर संक्रांति के क्षेत्रीय नाम क्या हैं?

    मकर संक्रांति को भारत के विभिन्न क्षेत्रों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है, जैसे तमिलनाडु में पोंगल, असम में माघ बिहू, गुजरात में उत्तरायण और पंजाब में लोहड़ी।

  • मकर संक्रांति के दौरान पतंग उड़ाने की परंपरा का क्या महत्व है?

    मकर संक्रांति के दौरान पतंग उड़ाना अंधकार से प्रकाश की ओर संक्रमण का प्रतीक है।
    आसमान में उड़ती रंग-बिरंगी पतंगें बुराई पर अच्छाई की जीत और लंबे, उज्जवल दिनों के आगमन का प्रतिनिधित्व करती हैं।

  • क्या मकर संक्रांति केवल भारत में मनाई जाती है?

    मकर संक्रांति मुख्य रूप से एक भारतीय त्योहार है, नेपाल, बांग्लादेश और थाईलैंड जैसे पड़ोसी देशों में भी इसी तरह का उत्सव मनाया जाता है।
    इस त्यौहार के अलग-अलग नाम हो सकते हैं

  • क्या मकर संक्रांति से जुड़े कोई विशिष्ट व्यंजन हैं?

    हाँ, मकर संक्रांति के दौरान पारंपरिक व्यंजन तैयार किए जाते हैं, जैसे तिल और गुड़ की मिठाइयाँ जैसे महाराष्ट्र में तिलगुल और कर्नाटक में एलु बेला।
    विभिन्न क्षेत्रों में विशेष व्यंजन अलग-अलग होते हैं।

  • क्या मकर संक्रांति से जुड़े कोई अन्य त्यौहार भी हैं?

    हां, पंजाब में लोहड़ी और तमिलनाडु में पोंगल जैसे त्योहार मकर संक्रांति से निकटता से जुड़े हुए हैं।
    प्रत्येक क्षेत्र में मकर संक्रांति के साथ-साथ अतिरिक्त उत्सव और परंपराएँ हो सकती हैं।

  • Holi Wishes In Hindi | होली स्टेटस हिंदी 2024
    Holi Wishes In Hindi – होली, भारतीय सांस्कृतिक कला का एक अद्वितीय पर्व है, जो रंगों की खेलबजारी और खुशी के साथ मनाया जाता है। यह विशेषकर हिन्दू धर्म में मनाया जाता है और समूचे देश में उत्सव की धूमधाम से मनाया जाता है। इसे ‘रंगों का त्योहार‘ कहा जाता है, क्योंकि इस दिन लोग
  • Makar Sankranti Ke Bare Mein | मकर संक्रांति के बारे में
    Makar Sankranti Ke Bare Mein – मकर संक्रांति, जिसे उत्तरायण या मकर महोत्सव के रूप में भी जाना जाता है, भारतीय उपमहाद्वीप में मनाया जाने वाला एक जीवंत और विविध त्योहार है। प्रतिवर्ष 14 जनवरी (या लीप वर्ष में 15 जनवरी) को पड़ने वाला यह त्योहार सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में संक्रमण
  • Maha Shivratri 2024 Kab Hai | 2024 में महाशिवरात्रि कब है
    Maha Shivratri 2024: हिंदू कैलेंडर में एक दिव्य उत्सव, महा शिवरात्रि, भगवान शिव और देवी शक्ति के अभिसरण का प्रतीक है। 2024 में, यह शुभ अवसर शुक्रवार, 8 मार्च को आएगा, भक्त बेसब्री से दिव्य उत्सव का इंतजार करते हैं। जैसे ही यह पवित्र रात आएगी, दुनिया भर में लाखों भक्त भगवान शिव का आशीर्वाद
  • Christmas Kyu Manaya Jata Hai | क्रिसमस क्यों मनाया जाता है
    Christmas Kyu Manaya Jata Hai – क्रिसमस, जो हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाने वाला धार्मिक त्योहार है, ईसाई धर्म के अनुयायियों के लिए बड़े महत्वपूर्ण है। यह त्योहार ईसा मसीह (यीशु) के जन्म की स्मृति के रूप में मनाया जाता है और दुनियाभर में विभिन्न रूपों में धूमधाम से मनाया जाता है। शीर्षक
  • Happy New Year Shayari 2024 | Status Messages – नया साल 2024 की शायरी
    Happy New Year 2024 – शुभकामनाएं शायरी मेसेज इमेज Whataaps Facebook: Happy New Year 2024 Wishes Shayari Messages Images WhatsApp And. Happy New Year Shayari 2024 New Year Wishes SMS Message Fully Jokes In Hindi. Happy New Year Facebook Shayari. Happy New Year 2024 Whatsapp Shayari Happy New Year 2024 Sharechate Shayari. Happy New Year

Leave a Comment