सफेद पानी की रामबाण दवा | Safed pani ka ilaj

सफेद पानी की रामबाण दवा – ल्यूकेरिया (Leucorrhea) जिसे व्हाइट डिस्चार्ज कह सकते है. यह समस्या महिलाओं में होती है. यह किसी भी उम्र की महिला में हो सकती है. ल्यूकेरिया की समस्या में यूरिन से चिपचिपा व्हाइट डिस्चार्ज निकलता है यह बदबूदार भी हो सकता है।

महिलाओं में प्रजनन उम्र में योनि से सफेद पानी आना (White discharge) एक आम समस्‍या है। संभोग के समय और प्रेग्‍नेंसी की वजह से भी वजाइनल डिस्‍चार्ज हो सकता है। हालांकि हम आपको डॉक्टर के पास जाने की सलाह देते हैं या फिर आप घरेलू नुस्‍खों से ही लिकोरिया का इलाज कर सकती हैं।

व्हाइइट डिस्चार्ज के साथ अन्य लक्षण


ल्यूकेरिया (Leucorrhea) की समस्या में महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज के साथ अन्य लक्षण भी महसूस हो सकते हैं. इन लक्षणों में अधिक थकान महसूस हो सकती है, यूरिनल पार्ट में खुजली हो सकती है, चक्कर आना, सिरदर्द या कब्ज हो सकती है।

यदि योनि मार्ग से आने वाला पानी का रंग पीला या हरा होता है तो यह योनि संक्रमण का संकेत हो सकता है जो आगे चलकर कई और बीमारियों का कारण हो सकता है ।

सफेद पानी (White discharge) के लक्षण –

  • पेट के निचले हिस्से और टांगों में दर्द का होना.
  • बार-बार पेशाब लगना.
  • योनि के आसपास खुजली का होना.
  • शारीरिक संबंध के दौरान दर्द महसूस होना.
  • थकावट ज्यादा रहना और सुस्ती होना.
  • कब्ज का होना.
  • कमजोरी के साथ-साथ शरीर में ऐठन होते रहना एवं कमर दर्द की समस्या लगातार बने रहना.

घरेलू नुस्‍खों से दूर हो सकती है महिलाओं की सफेद पानी की समस्‍या

सफेद पानी की रामबाण दवा(White Water) सफेद पानी आने की समस्‍या में एंटीबायोटिक एजेंट का बहुत ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने से स्थिति और ज्‍यादा खराब हो सकती है। डॉक्‍टर की सलाह के बिना एंटीबायोटिक नाले आप कुछ घरेलू नुस्‍खों को आजमा सकती हैं।

गुलाब के पत्ते से बनाए औषधि

डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला जी के अनुसार, ल्यूकेरिया होने पर आप गुलाब के पत्ते एक बेहतर औषधि का कार्य कर सकते हैं. इसके लिए आप गुलाब के पत्तों को सुखा कर इसका पाउडर तैयार कर लीजिए. अब इस पाउडर को आप रोज गर्म दूध में मिलाकर पीने से वाइट डिस्चार्ज की समस्या कुछ दिन में ठीक हो जाएगी ।

नियमित तौर पर करें दूध-केले को खाए

केला भी ल्यूकेरिया में काफी काम आता है. यदि आपको सफेद पानी निकलने की समस्या हो रही है तो 1 गिलास दूध में आधा चम्मच घी डालकर इसमें केला मेश करके पी सकते हैं. इसका नियमित समय पर सेवन करने से सफेद पानी निकालना कुछ ही दिनों में ठीक हो सकता है. इसके साथ ही इसके सेवन से शरीर की थकान भी दूर हो सकती है ।

अनार रस

अनार खाए सेहत के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि अनार कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है. इसके अलावा अनार के दानों के साथ अनार के पत्ते और छाल भी कई रोगों को दूर करने में मददगार साबित होती है. सफेद पानी की समस्या को दूर करने के लिए प्रतिदिन अनार रस का ताजा जूस एक गिलास प्रतिदिन पिए ।

इसके अलावा 20 अनार की पत्तियां और 5 काली मिर्च लेकर अच्छे से पीस लें. अब इस पेस्ट को एक गिलास पानी में मिलाएं और पिए इसके नियमित दिन में दो बार सेवन करने से लाभ होता है ।

भिंडी का पानी

सुनने में यह बड़ा अजीब लगता है लेकिन भिंडी का पानी भी लुकेरिया की समस्या में बेहद फायदेमंद साबित होता है. इसके लिए 110 ग्राम भिंडी लेकर इसे आधा लीटर पानी में तब तक उबालते रहें जब तक पानी आधा ना हो जाए. इस पानी के ठंडा होने के बाद इसमें शहद की थोड़ी सी मात्रा मिलाकर पीलें. यह समस्या कुछ ही दिनों में दूर हो जाएगी ।

अमरूद खाए

अमरूद का सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद होता है. इसके सेवन से पेट साफ रहता है. लेकिन आपको बता दें कि अमरूद की पत्तियां भी हमारे लिए कम फायदेमंद नहीं होती है. जिन महिलाओं को लिकोरिया की समस्या है उनके लिए यह काफी मददगार साबित होता है ।

इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए अमरूद की कुछ ताजा पत्तियों को 1 लीटर पानी में डालकर तब तक उसे उबालें जब तक पानी आधा न रह जाए. पानी ठंडा होने पर इस पानी को पिएले. सफेद पानी की समस्या कुछ ही दिनों में दूर हो जाएगी ।

सफेद पानी की समस्या से बचने के कुछ उपाय –

  • साफ-सुथरे वस्त्र पहने और जब आप इस रोग से पीड़ित है तो दिन में दो-तीन बार इन्हें बदलें की कोशिश करें.
  • कॉफी, शराब और आयली खाने से दूर रहेंने की कोशिश करें.
  • प्रतिदिन योनि के आसपास के हिस्सों को साफ करेंने की कोशिश करें.
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं. जितने तरल पदार्थ आप लेंगे. उतने ही बैक्टेरिया पेशाब के साथ बाहर जाएंगे.
  • फिटकरी को तवे पर भून कर पीसकर पाउडर बना लें. अब एक चौथाई चम्मच पानी के साथ सुबह-शाम इसका सेवन करें. इसके साथ ही फिटकरी को पानी में मिलाकर इस पानी से योनि को धोएं. इससे जल्द ही लिकोरिया की समस्या से छुटकारा मिलेगा.

आंवला पाउडर से भी कम होगी यह समस्या

आंवले का पाउडर भी ल्यूकोरिया की समस्या में काफी कारगर नुस्खा है. आंवले के पाउडर के साथ शहद मिलाकर दिन में 3-4 बार सेवन करते रहें. नियमित रूप से इसका सेवन से व्हाइट डिस्चार्ज कम हो जाएगा ।

अंजीर भी रामबाण दवा हैं

सफेद पानी की समस्या से निजात पाने के लिए अंजीर काफी उपयोगी होता है. इसके लिए 5 अंजीर अच्छे से धोकर रात में भिगो दें. सुबह के समय खाली पेट इस अंजीर को अच्छी तरह चबाकर खाएं. इसके बाद पानी पीलें. नियमित रूप से इस उपाय को अपनाने से एक महीने में सफेद पानी निकलने की समस्या ठीक हो जाएगी ।

मेथी के बीज

मेथी के बीजों से सफेद पानी की समस्या दूर करने में मदद मिलती है. इसके सेवन से महिलाओं की योनि में पीएच का उचित स्तर बनाए रखने के साथ एस्ट्रोजन के बेहतर लेबल बनाने में मददगार होता है. मेथी का एक और लाभ यह है कि यह रोग प्रतिरोधक की क्षमता को बढ़ाने का काम करता है ।

इसके लिए एक चम्मच मेथी के बीज को रात को पानी में भिगोकर छोड़ दे. सुबह पानी अलग करके आधा चम्मच शहद मिलाकर बिना कुछ खाए पानी इसको पी लें ।


  • पीरियड्स क्या होते है ? – Periods kya hote hain
    पीरियड्स – पीरियड्स मासिक धर्म चक्र का वह हिस्सा है जब एक महिला की योनि से कुछ दिनों के लिए खून बहता है। ज्यादातर महिलाओं के लिए यह हर 28 दिनों में होता है, लेकिन मासिक धर्म चक्र के 21 दिन से 40 दिन तक, इससे अधिक या कम बार-बार मासिक धर्म होना आम बात …

    Read more

  • पीरियड्स में क्या नहीं करना चाहिए – Mahila Swasthya
    पीरियड्स में करना चाहिए – अगर आप इन 10 चीजों से परहेज नहीं करती हैं तो आपके पीरियड्स बेहद असहज हो सकते हैं कुछ चीजें हैं । जो आपके Periods के दौरान आपको परेशानी में डाल सकती हैं और इसलिए आपको इनसे बचना चाहिए। पीरियड होने का मतलब है रोलरकोस्टर राइड! जब आंटी फ़्लो आती …

    Read more

  • सेनेटरी नैपकिन क्या है? – Sanitary pads kya hai
    सेनेटरी नैपकिन (Sanitary pads) – एक सैनिटरी नैपकिन, सैनिटरी पैड, मासिक धर्म पैड (पीरियड्स), या पैड महिलाओं द्वारा अपने मासिक धर्म के दौरान पहना जाता है। सेनेटरी नैपकिन क्या है? सेनेटरी नैपकिन, जिसे सैनिटरी नैपकिन या मासिक धर्म पैड के रूप में भी जाना जाता है, शोषक सामग्री से बना एक पतला पैड है जो …

    Read more

  • मेंस्ट्रुअल कप क्या है ? – Menstrual cup
    मेंस्ट्रुअल कप (Menstrual cup) – एक प्रकार का पुन: प्रयोज्य स्त्री स्वच्छता उत्पाद है। यह रबर या सिलिकॉन से बना एक छोटा, लचीला फ़नल के आकार का कप होता है जिसे आप अपनी योनि में डालते हैं ताकि पीरियड फ्लुइड को पकड़ सकें और इकट्ठा कर सकें। कप अन्य तरीकों की तुलना में अधिक रक्त …

    Read more

  • टैम्पोन क्या हैं? – Tampons
    टैम्पोन (Tampons) – सैनिटरी नैपकिन के उपयोग और पीरियड्स को मैनेज करने के अन्य तरीकों में पीढ़ियों से सुधार हुआ है। पहले के समय में धोए गए और पुन: उपयोग किए जाने वाले साधारण सूती नैपकिन से लेकर आज के उन्नत डिस्पोजेबल सैनिटरी पैड जो लीक-प्रूफ तकनीक के साथ आते हैं, मासिक धर्म से निपटने …

    Read more