महिलाओं में टीबी के लक्षण | Mahilaon Mein TB ke Lakshan

महिलाओं में टीबी के लक्षण – टी.बी. का पूरा नाम है ट्यूबरकुल बेसिलाइ (Tuberculosis TB) । इसे प्रारंभिक अवस्था में ही न रोका गया तो जानलेवा साबित होता है। यह व्यक्ति को धीरे-धीरे मारता है। टी.बी. रोग को अन्य कई नाम से जाना जाता है, जैसे तपेदिक, क्षय रोग तथा यक्ष्मा।

लक्षण नहीं दिखते आसानी सेः   

डॉक्टर अंजु बताती हैं कि शुरुआती स्टेज में गर्भाशय टीबी के लक्षणों को आप आसानी से नहीं पकड़ पाते हैं,लेकिन 7-8 महीने बाद इसके लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं. अक्सर यह तब सामने आती है. जब किसी औरत को मां बनने में दिक्कत पेश आने लगती है. 

महिलाओं में टीबी के लक्षण | इसके लक्षणों में थकान, पेट के निचले हिस्से में बेहद दर्द रहना, वजाइना से सफ़ेद पानी आना, पीरियड्स का गड़बड़ा जाना, एमेनोरिया,हेवी ब्लीडिंग, सेक्स के बाद दर्द, उबकाई या उल्टी, वजन का कम होना, हल्का बुखार, हार्ट की पल्स रेट का तेज हो जाना जैसी दिक्कते पेश आती हैं.इस बीमारी प्रेगनेंसी के वक्त होने पर गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है.

टीबी के सामान्य लक्षण (Common symptoms of TB)

  • दो हफ्ते से ज्यादा लगातार खांसी, खांसी के साथ बलगम आ रहा हो, कभी-कभार खून भी आना।
  • ब्रॉन्काइटिस में सांस लेने में दिक्कत होती है और सांस लेते हुए सीटी जैसी आवाज आती है।
  • वजन कम होना जैसी दिक्कतें हो सकती है लेकिन आमतौर पर बुखार नहीं आता।
  • टीबी में सांस की दिक्कत नहीं होती और बुखार आता है।

टीबी रोग के कारण (Tb causes)


टीबी एक संक्रामक रोग है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है और इसके होने के भी कई कारण हैं जैसे-

1.डायबिटीज

अगर कोई व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित है तो टीबी रोग भी उसे बड़ी आसानी से हो सकता है, इसलिए डायबिटीज के मरीजों को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए और डायबिटीज को हमेशा कंट्रोल में रखना चाहिए।

2.कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता

टीबी एक संक्रामक रोग है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है और यह उस व्यक्ति को जल्दी अपनी चपेट में ले लेता है जिसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है।

3.किडनी रोग

एक रिसर्च में पाया गया है कि उन लोगों को भी टीबी रोग जल्दी हो जाता है जो किडनी रोग से पीड़ित होते हैं या कभी किडनी से संबंधित कोई बीमारी हुई हो।

4.संक्रमण

टीबी रोग एचआईवी ऐड्स जैसे संक्रमण के कारण भी फैलता है

5.कुपोषण

टीबी रोग होने का सबसे बड़ा कारण कुपोषण है। जो लोग कुपोषण के शिकार हैं उनमें यह बीमारी ज्यादा देखी गई है।

अन्य टीवी के लक्षण (Tb symptoms)

हर एक बीमारी के कोई ना कोई लक्षण होते हैं वैसे ही टीबी भी शुरुआत में कुछ ऐसे संकेत (TB ke lakshanदेता है जैसे आप इसके लक्षणों को आसानी से पहचान सकते हैं जैसे-

1.खांसी होना

कभी-कभार खांसी होना आम हो सकता है लेकिन टीबी के मरीजों में खांसी के साथ साथ मुंह से खून भी आता है। अगर आपने भी यह लक्षण देखे हैं तो जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें (Tb test)। इसके अलावा अगर किसी व्यक्ति को 3 हफ्ते से अधिक खांसी रहती है तो इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

2.सीने में दर्द

सीने में दर्द होना भी टीबी का एक आम लक्षण है। ज्यादातर लोग सीने में दर्द की समस्या को सीरियस नहीं लेते हैं जो बाद में टीबी के साथ-साथ कई और गंभीर बीमारी को दावत दे सकता है।

3.बुखार

शायद आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन टीबी के मरीजों में बुखार भी देखा गया है। अगर बुखार लंबे समय तक बना रहे तो टीबी जांच करवा लेना चाहिए। इसके अलावा थकान भी टीवी का लक्षण है।

टीबी क्या है और कितने प्रकार का होता है?

टीबी रोग महिलाओं में : टीबी (ट्यूबरक्लोसिस) रोग माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस जीवाणु से होता है। इसके दो प्रकार हैं। पहला, पल्मोनरी टीबी (फेफड़े संक्रमित होते) व दूसरा, एक्स्ट्रा पल्मोनरी टीबी (फेफड़ों के बजाय शरीर के अन्य अंगों पर असर व उसी अनुसार लक्षण)

आमतौर पर टीबी को हम मुंह से खून आना, रात को बुखार आना, बार-बार खांसी होना जैसे लक्षणों से पहचानते हैं. हमारी धारणा रही है कि टीबी फेफड़ों को प्रभावित करता है, लेकिन पिछले कुछ समय से टीबी अपना रूप बदल रहा है. यह शरीर के अन्य हिस्सों जैसे- पेट, स्पाइनल कॉर्ड, हड्डी, ब्रेन, यूटरस, ओवरी तक में भी हो सकता है. इसे एक्स्ट्रा पल्मोनरी टीबी कहा जाता है. अपने देश में एक्स्ट्रा पल्मोनरी ट्यूबरक्लोसिस के मामले हाल के वर्षों में काफी तेजी से बढ़े हैं.


महिलाओं के स्वास्थ्य संबंधी और अधिक पढ़ें