महिलाओं में बाल झड़ने के कारण | Mahilaon Mein Baal jhadne Ke Karan

महिलाओं में बाल झड़ने के कारण – बालों के झड़ने का अनुभव हर किसी को होता है, और यह हम में से प्रत्येक के साथ हर दिन होता है। इस प्राकृतिक चक्र के हिस्से के रूप में अधिकांश लोग प्रतिदिन 50 से 100 बाल खो देते हैं, अधिक जब आप अपने बाल धोते हैं। लेकिन क्या होगा अगर आप अपने तकिए, शॉवर नाली, या कंघी की जांच करें और ऐसा लगता है कि आप अचानक उससे बहुत अधिक खो रहे हैं?

बालों के झड़ने के पीछे कई संभावित कारण होते हैं जैसे खराब डाइट, गतिहीन जीवनशैली, बढ़ता प्रदूषण, बहुत अधिक तनाव या बालों की खराब देखभाल इन कारणों से आपके बाल गिर सकते हैं, लेकिन क्या सिर्फ यही कारण हैं? ज्यादातर महिलाएं अपने बालों के झड़ने के वास्तविक कारण के बारे में नहीं जानती हैं | causes of hair loss in women

महिलाओं में बाल झड़ने के लक्षण

1.एनीमिया

कई बार खान पान में लापरवाही की वजह से महिलाओं में आयरन की कमी हो जाती है जिससे वे एनीमिया (Anemia) की शिकार हो जाती हैं. इसकी वजह से कुपोषण, माहवारी के दौरान भारी रक्तस्राव और शरीर में आयरन की कमी हो जाती है. ऐसे में जब शरीर में आयरन की कमी कई दिनों तक रह जाती है तो बाल गिरने शुरू हो जाते हैं. अगर महिलाएं आयरन युक्‍त भोजन को अपनी दिनचर्या में शामिल करें तो बालों का झड़ना रुक सकता है और गिर चुके बालों की जगह नए बाल भी जल्‍दी आ सकते हैं.

2.डाइटिंग करना

कई बार महिलाएं वेट लूज करने के लिए क्रश डायट करतीं हैं और इसके लिए दिन भर में बहुत कम कैलोरी का सेवन करतीं हैं. यही नहीं, सही खान पान ना होने की वजह से शरीर के पोषक तत्व भी कम होने लगते हैं जिसका सबसे पहले प्रभाव बालों पर पड़ता है. ऐसे में अगर आप भी वजन कम करने के लिए डाइटिंग कर रहीं हैं तो डॉक्‍टर की सलाह पर ही डायट प्‍लान करें. हो सकता है कि आपके वजन कम करने के चक्‍कर में आपके बाल गिर रहे हों.

3.मेनोपॉज भी वजह

आम तौर पर पाया गया है कि महिलाओं में मेनोपॉज के दौरान बाल झड़ने लगते हैं. दरअसल इन दिनों शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं जिनका असर बालों पर भी पड़ता है. ऐसे में अगर आप मेनोपॉज के लक्षणों से उबरने का प्रयास करती हैं और स्‍ट्रेस फ्री लाइफ जीने की आदत डालती हैं तो आपके बाल भी स्‍ट्रेस फ्री होते हैं और नहीं झड़ते हैं.

4.थायरॉयड की समस्‍या

इन दिनों थायरॉयड की समस्‍या से हर दूसरी तीसरी महिलाएं ग्रस्‍त हैं. थायरॉयड ग्रंथि बॉडी की एक महत्वपूर्ण ग्रंथि है जिसमें असंतुलन होने पर आपके शरीर को कई प्रॉब्‍लम से गुजरना पड़ता है. बाल झड़ना भी इसकी एक वजह है. अगर आप हाइपोथायरायडिज्म और हाइपरथायरायडिज्म से जूझ रही हैं तो इसे इग्‍नोर ना करें और तुरंत डॉक्‍टर की मदद लें.

5.हेयर स्‍टाइलिंग

अगर आप रेग्‍युलरली अपने बालों को स्टाइल करने के लिए स्ट्रेटनिंग, कर्लिंग या पर्मिंग कराती हैं तो यह आपके बालों को कमजोर बना देते हैं और एक समय के बाद झड़ने लगते हैं. इसके अलावा, कैमिकलयुक्‍त हेयर स्प्रे, हीट या कलर का इस्तेमाल भी आपके बालों की सेहत पर बुरा असर डालते हैं. इन सब वजहों के कारण भी बाल झड़ने लगते हैं.

6.प्रेगनेंसी और बर्थ कंट्रोल दवाओं का प्रयोग

प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले हार्मोनल बदलावों की वजह से कई बार बाल झड़ने लगते हैं. लेकिन इन दिनों अगर आप भरपूर विटामिन, आयरन आदि लेती हैं तो ये बाल दुबारा आ जाते हैं. इसके अलावा, बर्थ कंट्रोल पिल्‍स के लगातार सेवन से भी बाल झड़ने लगते हैं.

मेयो क्लिनिक का कहना है कि टेलोजन एफ्लुवियम के कारण अचानक बालों का झड़ना तनावपूर्ण घटना के कुछ महीनों बाद भी हो सकता है।

एलोपेशिया एरियाटा। इस तरह के बालों का झड़ना अक्सर गोल गंजे पैच के रूप में दिखाई देता है। एनवाईयू (NYU) लैंगोन हेल्थ के अनुसार, यह आपके बालों को अचानक और नीले रंग से बाहर कर सकता है। यह स्थिति तब होती है जब आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से आपके बालों के रोम पर हमला कर देती है। अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी का कहना है कि आपके बाल अपने आप या उपचार से वापस बढ़ सकते हैं।

अन्य चिकित्सा समस्याएं। त्वचा विज्ञान के येल प्रोफेसर डेविड जे। लेफ़ेल, एमडी, लिखते हैं कि थायरॉयड की स्थिति और आंत्र रोगों सहित बीमारियों को दोष दिया जा सकता है।

कुछ दवाएं। ब्लड थिनर या कीमोथेरेपी दवाएं आपके अचानक बालों के झड़ने का कारण हो सकती हैं।